0

महान शासक शूर वीर छत्रपती शिवाजी महाराज

छत्रपती शिवाजी महाराज भारत के महान राजाओं में से हे.महाराष्ट्र के तख्त पर राज करने वाले और दिलों पर राज करने वाले महान राजा शिव छत्रपति शिवाजी महाराज थे शिव छत्रपति महाराज के नाम से उनके विरोधियों की नस जम जाती थी छत्रपति शिवाजी महाराज एक शूर योद्धा थे महाराष्ट्र के स्वराज्य स्थापन के लिए उन्होंने अपने कम वर्ष की आयु में ही पहल कर दी थी

छत्रपति शिवाजी महाराज उन्होंने सबसे ज्यादा अपने किले समुद्र के तट पर बांध है छत्रपति शिवाजी महाराज ने स्वराज्य के हर सैनिक जिन वह मावळा कहते थे उनके दिलों में स्वराज्य के प्रति निष्ठा जगाई और अपना स्वराज्य मराठा होगा स्वराज्य ले कर दिखाया और जिनके पराक्रम से दिल्ली का तक्त हिल जाता था ऐसा शूर योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज भारत का एक महान पुत्र थे

भारत के महान राज्यों में जिनका नाम लिया जाता है महान राजाओं में जिनका नाम लिया जाता है जिनका हुकूमत कर्नाटक से लेकर दिल्ली तक थी और जिनके नाम से ही दिल्ली का तक्त हिलता था उनका नाम था राजा शिवछत्रपती शिवाजी महाराज छत्रपति शिवाजी महाराज इनका जन्म महाराष्ट्र के रायगढ़ किले पर हुआ बचपन से ही वह बहुत ही शूर और पराक्रमी थे उनके मन में बचपन से ही स्वराज्य एकता इनसे वह परिपूर्ण थे वह एक दूरदर्शी राजा थे उनका जन्म 19 फेब्रुवारी 1630 में हुआ था पूना जिले के जुनार गांव में शिवनेरी किला पर 1630 में शिवाजी महाराज का जन्म हुआ था उनके पिताजी का नाम शहाजीराजे था शाहजी राजे निजाम  के यहां सरदार थे उनके माता जी का नाम जीजाबाई था जिजामाता ने ही उन्हें हिंदवी स्वराज का सपना दिखाया था और उनके मन में स्वराज्य के प्रति आदर निर्माण किया था

इसवी सन 1674 में छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक हुआ वह आदर्श शासन करता योद्धा और लोगों का कल्याणकारी राजा के के पूरे भारतवर्ष में जाने जाने लगे उन्होंने अपने बलबूते पर एक सामर्थ्यशाली राज्य खड़ा किया वह उनके दुश्मन को ऐसा चकमा देते हैं क्योंकि वह सोच में पड़ जाते और उस चकमा को उन्होंने गनिमी कावा तंत्र बनाया शिवाजी महाराज का बढ़ता प्रभाव देख दिल्ली से अफजल खान को बुलाया गया लेकिन बहुत ही चालाकी से और होशियारी से छत्रपति शिवाजी राजा ने अफजल खान को भी मार भगाया उसके बाद  सूरत इस  ही सब सारी घटना देख शिवाजी महाराज का सब तरफ दबदबा होने लगा छत्रपति शिवाजी महाराज उन्होंने अपनी खुद की राजमुद्रा तैयार की थी उन्होंने राजधानी रायगढ़ किला से बनाई थी

महाराज ने अंग्रेजो के खिलाफ भी संघर्ष जारी रखा था मुंबई में अंग्रेजों के खिलाफ चले गए युद्ध सामग्री में 1671 में जारी रहा उन्होंने राजापुर में अंग्रेजी कारखानों को लूट लिया 6 जून 1674 को रायगढ़ किले पर शिवाजी महाराज ने अपना राज्यभिषेक करवाया 50 हजार लोगों के सामने काशी से बुलाए गए गागाभट्ट ने उन का राज्यभिषेक किया राज्याभिषेक के बाद उन्होंने दक्खन के राज्यों में इस खानदेश बीजापुर कारवार जंजीरा पर विजय प्राप्त की उन्होंने बेलोरा के किले भी जीते

छत्रपति शिवाजी महाराज ने सभी धर्मों के लिए सहिष्णुता को बढ़ावाउन्होंने सभी लोगों को मुगल शासकों से लड़ने के लिए एकजुट किया दिया वह प्रशासनिक नीतियों और विषयों पर दृढ थे उन्होंने महिला स्वतंत्रता को प्रोत्साहन दिया वह जातिभेद के खिलाफ थे उन्होंने सभी जाति के लोगों को अपने राज्यकाल घर में रखा और उन्होंने किसानों के लिए बहुत से काम किए

more read
more read

Author

Amol Kambale is founder "India-mirror" he has an interested in job news blog and entertainment topics and whatsoever his passion dedication

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *