0

FULL FORM OF ATM

ATM

FULL FORM OF ATM – ATM KA FULL FORM – automated teller machine

आज एटीएम को लगभग सभी जानते है. आज सबके पास बैंक अकाउंट है ओर हम जब भी बैंक में अपना खता खुलवाते है तो उसके साथ में हमें एटीएम कार्ड याने डेबिट कार्ड पूछा जाता है ATM कार्ड का full form- automated teller machine

ATM FULL FORMFULL FORM OF ATM


ATM वर्क कैसे करता है
एटीएम कार्ड में एक चीफ लगी होती है जैसे ही हम कार्ड को एटीएम मशीन के अंदर डालते है

कार्ड के पीछे एक मैग्नेटिक चीफ होती है उससे मशीन रीड करती है.ओर अपने बैंक में सेंड करती है
ये सब सेटलिटे के जरिए चलता है.ये सब मैनेसर्वेर के जरिए चलता है

ATM मशीन के अंदर का सिस्टम ब्लू लाइट उसे स्कैन करता है अगर आप का एटीएम सही है

तो वो कार्ड की जानकारी आगे सांझा करता है ओर आगे की प्रोसेस होती है

उसमे आप अपने बैंक डिटेल्स विथड्रो मणि स्टेटमेंट बैलेंस चेक कर सकते है

ये सब करने के लिए आप को पहले ४ डिजिट का पिन एटीएम मांगता है

ये कोड युनिक होता है ये सिर्फ अपने पास कार्ड के ऊपर ही वर्क करता है

ओर इस तरह से आप अपने पैसे विथड्रो करते हो

Types of ATM

Online atm

Ofline atm

Orange label atm

White label atm

Brown label atm

yellow label atm

onsite atm offsite atm

Types of ATM card के प्रकार

Master card

Debit card

Credit card

Visa card

Check card

Maestro card

Emv  card

ATM FULL FORM IN HINDI – स्वचालित टेलर मशीन

History
आप सब को ये जानकर ख़ुशी होगी के एटीएम के अविष्कारक का जन्म भारत में हुवा था

उनक नाम जॉन शेफर्ड बेरोन था वो स्कॉटिश के रहने वाले थे


दुनियाकी सबसे पहली मशीन लंदन में बार्कलेज में लगी थी
आज पुरे दुनिया में लगभग ३०लाख एटीएम मशीन है सिर्फ भारत में ही २.५ लाख मशीन है

रत में सबसे पहला एटीएम १९६७ में मुंबई में लगाया गया था उसे HSBC ने लगाया
जॉन शेफर्ड बेरोन वैसे तो वो एटीएम का पिन ६ डिजिट का करना चाहते थे

लेकिन ६ डिजिट याद नहीं रहगे इस कारन उनोहने ४ डिजिट का पिन बनाया जो आज भी चलन में है


ATM से सोना भी नक़ल ता है.

आप को जानकर ताजुब होगा लेकिन यूनाइटेड अरब में गोल्ड निकलेने वाला ATM मौजूद है

source- Technical Guruji

Today almost everyone knows ATM. Today everyone has a bank account and whenever we open our account in the bank, we are asked for ATM card i.e. debit card along with it. ATM card full form – automated teller machine

How ATMs work
The ATM card has a chief as soon as we insert the card inside the ATM machine

There is a magnetic chief on the back of the card from which the machine reads and sends to its bank
It all runs through satellites. It runs through mane server

The system inside the ATM machine, Blue Light, scans it if your ATM is correct

So he shares the card information further and further process takes place

In it you can check your bank details withdrawal money statement balance

To do all this, the ATM first asks you for a 4 digit PIN

This code is unique, it only works on top of the card you have

And this is how you withdraw your money

Types of ATM

History
You will all be happy to know that the inventor of ATM was born in India

His name was John Shepherd Baron, a native of Scotland

The world’s first machine was installed at Barclays in London
Today there are about 3 million ATM machines in the world, in India alone there are 2.5 million machines

The first ATM of the night was installed in Mumbai in 1967 by HSBC
By the way, John Shepherd Baron wanted to make the PIN of the ATM 6 digits

But 6 digits will not be remembered so he made a 4 digit PIN which is still in vogue today

video creadit technical guruji

MORE FULL FORM

Author

Amol Kambale is founder "India-mirror" he has an interested in job news blog and entertainment topics and whatsoever his passion dedication

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *